HomeIndian Navyनेवी ने INS विक्रांत और अरिघत की तारीख कर दी पक्की चीन...

नेवी ने INS विक्रांत और अरिघत की तारीख कर दी पक्की चीन पाक में मातम का माहौल

तो दोस्तों इंडियन एयरक्राफ्ट कार्रिएर INS विक्रांत को लेकर एक बड़ा अपडेट सुनने को मिला, जी हा दोस्तों INS विक्रांत की इंडक्शन सेरमनी को लेकर, भारतीय नौसेना ने अब तक की सबसे महत्वपूर्ण जानकारी मिडिया से साझा की, यु कहे तो INS विक्रांत नेवी में किस दिन शामिल किया जायेगा, वो तारीख ही नेवी ने मीडिया को बता दी है, खबर के मुताबिक पाच दिन पेहले अपने सी ट्रेल पर निकला INS विक्रांत कोचीन शिपयार्ड में वापिस आ चूका है, ये इसके सी ट्रायल्स का पेहला चरण था, जिसे विक्रांत ने बडी आसानी ने पूरा किया, इस ट्रायल के पुरे होने जाने के बाद नेवी ने बयान जारी करते हुए कहा, कि अगले कुछ महीनों तक विक्रांत के ऐसे ही और परीक्षण किए जाएंगे, जिसमे इसपर फाइटर जेट्स को टेक ऑफ किया जायेगा, मिसाइल टेस्ट होंगे, रेडार सिस्टम परखे जाए जायेंगे इसके अलावा गेहरे समंदर में इसके कम्युनिकेशन सिस्टम ठीक तरीके से काम करते है या नहीं, इन सब को टेस्ट किया जायेगा, और इसके बाद ही INS विक्रांत को नेवी के जंगी बड़े में शामिल होनी मंजूरी मिलेगी.

अब बात करते है इसकी इंडक्शन सेरमनी की, तो नेवी के ऑफिसियल स्टेटमेंट के मुताबिक, अगर INS विक्रांत इसी तरीके से हमारे सारे पैरामीटर्स को पास करता है, तो अगले साल के 75 वे स्वतंत्रता दिवस के मौके पर, पुरी रस्म के साथ INS विक्रांत नेवी के जंगी बड़े में शामिल होगा, इतना ही नहीं दोस्तों, तो 75 वे स्वतंत्रता दिवस को यादगार बनाने के लिए, नेवी और एक घातक हथियार अपने बड़े में शामिल करने वाली है, जी हा दोस्तों जब हम अगले साल आजादी की 75 वी सालगिरा मना रहे होंगे, उसी वक्त नेवी INS विक्रांत के साथ साथ, देश में ही बनायीं गयी नुक्लेअर पोवेरेड अटैक सबमरीन यानी INS अरिगत भी अपने जंगी बेड़े में शामिल करेगी, बताते चले की 110m लंबी INS अरिगत उन 4 न्यूक सबमरीन्स में से दूसरी सबमरीन है, जिसे शीप बिल्डिंग विशाखापत्तनम भारतीय नौसेना के लिए बना रही है.

इसे देश की सबसे एडवांस और सियिलेंट किलर सबमरीन भी कही जा रही है, जिसकी रेंज में लगभग पूरा चीन आ जाता है, भारतीय नौसेना ने अपनी स्टेटमेंट में कहा, कि ये ऐतिहासिक और गर्व कराने वाला दिन है, जब भारत उन चुनिंदा देशों की श्रेणी में शामिल हुआ, जिनके पास स्टेट ऑफ द आर्ट विमान-वाहक युद्धपोत के डिजाइन से लेकर, उन्हें निर्माण करने और उसे हथियारों से लैस करने तक की काबिलियत है. नौसेना के मुताबिक INS विक्रांत और INS अरिगत ‘आत्मनिर्भर भारत’ और ‘मेक इन इंडिया’ का एक नायाब नमूना है. जिन्हें हमारे इंजिनियरर्स ने अपने दम पर देश में ही बनाये, तो हमारे उन इंजिनियरर्स की इस कडी मेहनत के लिए, जो आज देश को सुरक्षित बना रहे है, उने एक जय हिंद जरुर लिखे.

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments