HomeIndian NavyTEDBF को लेकर नेवी ने लिया बड़ा फैसला 100 TEDBF की मांग

TEDBF को लेकर नेवी ने लिया बड़ा फैसला 100 TEDBF की मांग

जय हिंद दोस्तों सबसे पेहले आप सभी को स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं, कोरोना की वजेह आज भले ही स्कूल कॉलेजस बंद है, जहा पर इस स्वर्णीय दिवस को मानने का आनंद हम सभी को नहीं मिल पाया, फिर भी हम अपने रिश्तोदारो, कलीग्ज और दोस्तों को मैसेज भेज कर स्वतंत्रता दिवस की ढेर सारी बधाई दे सकते है, और सभी से रिक्वेस्ट है की घर में रहिये सुरक्षित रहिये, तो चलो आज की विडियो की शुरवात करते है, तो दोस्तों आज की हमारी खबर खासतौर पर इंडियन नेवी को लेकर है, जिसने स्वदेशी 4.5++ यानी लगभग पाचवे पीढी के विमान को लेकर एक बडा फैसला लिया, और एक बडे टेंडर को रद्द भी कर दिया है, जी हा दोस्तों यहाँ में बात कर रहा हु देश के आगामी नेवल फाइटर जेट TEDBF की.

दरअसल इंडियन डिफेंस न्यूज़ की और ये Exclusive खबर बताई गयी, नेवी आपातकालीन खरीद के तेहत जो 37 नेवल फाइटर जेट खरीदने वाली थी, अब उस टेंडर को ही नौसेना की तरफ से कैसील कर दिया गया, मैंने अपनी एक विडियो में आपसे कहा था, की INS विक्रांत के लिए नेवी खासतौर पर राफेल मरीन की मांग कर रही थी, जो की अपने श्रेणी का सबसे एडवांस और घातक फाइटर है, हालाकि राफेल मेहंगा है, पर जितने पैसे उसपर खर्च किये जायेंगे उससे दो गुना काम वो नेवी के लिए कर भी दिखायेगा, पर अफ़सोस की इस मांग को लेकर सरकार की तरफ से कोई भी प्रतिक्रिया नहीं दी गयी, हमारा डिफेंस बजेट 2 फ्रंट की लढाई को देखते हुए पेहले ही कम है, इसीलिए नेवी अतिरिक्त नेवल जेट्स खरीदने के बजाय, अब स्वदेसी TEDBF की और ही फोकस करना शुरू कर दिया है.

जानकारी के मुताबिक ADA की और से नेवी को कहा गया की इसी साल के अंदर TEDBF के सारे डिजाईन स्पेसिफिकेशन पुरे हो जायेंगे, और TEDBF प्रोग्राम के लिए तकरीबन 13 हजार करोड रुपयों का खर्च आयेगा जिसमे 60 प्रतिशत पैसे सरकार देगी, जबकि 40 प्रतिशत पैसे नेवी बजेट से लिए जाएंगे, इतने पैसो से पेहले 100 TEDBF तो बनाये जा सकते है, जो की नेवी के दोनों कार्रिएर्स के लिए काफी है, ADA का मानना है की उसे समय समय पर पैसे मिलते रहे तो 2025 तक पेहला TEDBF बनकर तैयार होगा, जिसके अगले 2 सालो तक सभी टेस्ट किये भी जा सकंगे, नेवी की और से भी कहा गया की फिलहाल जो 40 मिग 29 विमान है, उन्हें जिसे तैसे 2035 ऑपरेट किये जा सकते है, और तब तक तो काफी सारे TEDBF बन चुके होंगे,

तो ऐसे में विदेशी जेट्स पर पैसे खर्च करने के बजाय, TEDBF को ही जल्द से जल्द बनाना सही होगा, क्योकि ये लगभग पाचवे पीढी विमान के बराबर है, क्या आप भी नेवी के इस फैसले से सहमत है, क्या हमें TEDBF को ही जल्द से जल्द बनाना चाहिए, या फिर चीनी खतरे को देखते हुए कुछ राफेल जेट्स भी लेने चाहिये, इस पर आपकी क्या राय है, निचे चैट सेक्शन में जरुर बताये.

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments