HomeUncategorizedअफगान से आया तालिबान का संदेश भारत को तैंत करनी पड़ी अपनी...

अफगान से आया तालिबान का संदेश भारत को तैंत करनी पड़ी अपनी फौज !

दोस्तों तालिबान की ओर से सबको दंग करने वाली खबर सुनने को मिली, जी हा दोस्तों पुरे अफगान में हाहाकार मचा चुके तालिबान ने भारत के लिए एक ऐसा संदेशा जारी किया जिसे सुन कोई डिप्लोमेट सोच में पड़ा है, दरअसल किसी को भी ये उम्मीद ही नहीं थी, की तालिबान भारत को लेकर ऐसा बयान भी जारी कर सकता है, क्योकि इन दिनों तालिबान की और से भारत के लिए सिर्फ धमकिया ही सुनने को मिली थी, लेकीन आज अचानक भारत को लेकर तालिबान कुछ सेहमा सेहमा ना नजर आता दिखाई पड़ा, दरअसल दोस्तों ANI की और से ये ब्रेकिंग न्यूज़ बताई गयी की भारतीय दूतावास को लेकर तालिबान के वरिष्ठ नेता ने एक आश्चर्यजनक बयान जारी किया, वैसे इस बात में कोई दोराए नहीं की जबसे अफगानिस्तान में तालिबान का कब्जा हो गया है, तबसे दुनिया के लगभग सभी देशों ने अपने दूतावासों को बंद कर अपने राजनयिकों को वापस बुला लिया.

अफगान में तालिबान के खतरे को देखते हुए, दुसरे देशों की तरेह भारत ने भी अपने दूतावास बंद कर दिए है, और जो कुछ लोग अभी भी अफगान में फसे है, उन्हें एयरफोर्स के विमानों के जरिये भारत वापिस लाये जा रहे है, मगर इसी बिच तालिबान की और से एक खास बयान जारी करते हुए भारत से कहा गया, की भारत अपने अधिकारियो को काबुल से ना निकाले, तालिबान अभी भी भारत के साथ संबंध बनाए रखने की इच्छा जाहिर करता है, दरअसल तालिबान के वरिष्ठ नेता शेर मोहम्मद अब्बास ने ये स्टेटमेंट जारी करते हुए कहा, की भारत अफगान में मौजूद अपने दूतावास बंद ना करे, बल्कि तालिबान और भारत दोनों मिलकर काबुल में अपनी राजनयिक मौजूदगी को एक नए उचाई पर पंहुचा सकते है.

उनके मुताबिक भारत इससे पेहले अफगानी सेना को मिलिट्री ट्रेनिंग देता था, तो अब तालिबानी लडाको को देने में क्या हर्ज है, और वैसे भी तालिबान भारत के खिलाफ नहीं हमें परेशानी थी अफगानी सरकार से जो की अब दूर हो चुकी है, भारत को तालिबान से कोई खतरा नहीं भारतीय पक्ष काबुल में हर तरेह से सुरक्षित रहेगा, भारत को काबुल में अपने मिशन और अधिकारिओ की सुरक्षा को लेकर चिंता करने की कोई जरुरत नहीं, वैसे इस बयान पर श्यायद आपको भी यकीन नहीं हो रहा है ना, मुझे भी नहीं हो रहा है, क्योकि तालिबान जो ये टॉप कमांडर भारत के लिए ऐसी मीठी बाते कर रहा है, वो एक समय पेहले अफगान में भारत की भूमिका को लेकर सबसे बड़ा आलोचक रहा, और आज यही भारत को तालिबान से अपने रिश्ते बेहतर करने की अपील कर रहा है, वैसे भारत सरकार ने इसे लेकर कोई भी ट्वीट या प्रतिक्रिया व्यक्त नही की, हा लेकिन ये जरुर सुनने को मिला की तालिबान के बढते आतंक को देखकर मंत्रालय की तरफ से भारतीय फौज को हर समेय तैनात रेहने के आदेश जारी किये गए है, वैसे भी ऐसा कोनसा देश होगा जो अपने रिश्ते आतंक से स्थापित करना चाहता हो, अब आप ही बताईये तालिबान के इस सदेश का भारत ने क्या जवाब देना चाहिए या हा ना निचे

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments