HomeIndian Armyअमेरुल्ला सालेह की ऐतिहासिक जित तालिबान धोकर पछाडा Big Victory Of AAMRULLAH...

अमेरुल्ला सालेह की ऐतिहासिक जित तालिबान धोकर पछाडा Big Victory Of AAMRULLAH SALEH !

दोस्तों सबसे बडी खबर अफगानी सेना को लेकर निकलकर आ रही है, जी हा दोस्तों अशर गनी के लीडरशिप में जो सेना तालिबान के आगे झुक गयी थी, अब वही तालीबान का कल बनती दिख रही है, दरअसल अफगान की जित की ख़ुशी में मस्त हुए तालिबान को ऐसा झटका लगा, की पूरा तालिबान चीख उठा, तालिबान ने अपने सपने में भी ये सोचा नहीं होगा, की इतनी मशक्त करने के बाद उसने जो ये अफगान जीता, वो उसके हाथ से ऐसे चला जायेगा, अफगान के लोगो के लिए तो इससे बडी ख़ुशी हो ही नहीं सकती क्योकि पेहले ही पूरी दुनिया तालिबान के डर से उन्हें अपने देश में शरण देने से इंकार कर रही है, ऊपर तालिबान किसी को छोड नहीं रहा, लेकिन ऐसी संकट भरी परिस्थिति में अफगान के नए शेर अमरुल्ला सालेह ने एक बडी जित हासिल कर दिखाई, ना सिर्फ यह एक जित है बल्कि अफगानी लोगो के लिए एक उम्मीद किरण भी, अब उन्हें अपनी जान बचाने के लिए दुनिया की और हाथ फैलाने नहीं पड़ेंगे.

दरअसल दोस्तों DNA इंडिया की और से ये ब्रेकिंग न्यूज़ बताई गयी, की अफगान के नए कार्रवाहक राष्ट्रपती अमरुल्ला सालेह की लीडरशिप में स्थानीय विरोधी गुट ने तालिबान के खिलाफ निर्याणक जंग शुरू कर दी है, इस लढाई में तालिबानी लडाकों को अब तक सबसे बडी हार का सामना करना पड़ा, यहाँ तक की तालिबान ने कब्ज़ा चुके बाघलान प्रांत के तीन जिलों को भी इस फौज ने आजाद करा लिया है, इससे अफगान में सरकार बनाने के तालिबान के प्रयासों करारा झटका लगा, अफगानिस्तान की स्थानीय न्यूज एजेंसी अशवाका के अनुसार, सालेह की नेतृत्व में विरोधी गुटों ने तालिबान के कब्जे से बाघलान प्रांत के 3 जिलों के बड़े शेहर जैसे कि हेसर, हेड सहाल और बानो को आजाद करा लिया, खबर के मुताबिक, इस लड़ाई में कई तालिबानी लड़ाके भी मारे गए.

बताया जा रहा है कि इस करारी हार के बाद तालिबान के सभी प्रमुख नेता इस वक्त राजधानी काबुल में डेरा जमाए हुए है. और अफगान के कार्यवाहक राष्ट्रपती अमरुल्ला सालेह की इस नयी फौज को लेकर, तालीबान के सभी बड़े लीडर परेशान है, क्योकि 20 साल बाद तालिबान अफगान में जो अपना राज बढाना चाहता है, यहाँ के लोगों मन अपना खौफ जमाना चाहता था, वही लोग अपने नए राष्ट्रपती के नेतृत्व में तालिबान के खिलाफ बडी संख्या में एकत्रित हो रहे है, बताया जा रहा है की पंजशिर के शेर अमरुल्ला सालेह बडी तेजी से अपनी सेना लेकर डेह सलाह जिले की ओर बढ़ रहे है, जहा पर अभी भी कुछ अफगानी लोग तालिबान के कब्जे में है, यहाँ तक की इस लढाई में अब नोर्देंन अलायंस भी खुलकर अफगान का साथ दे रहा है जिससे सालेह की उम्मीद और बढेगी, गौर करने वाली बात ये है, की जो काम अशरफ गनी को एक जिमेद्दर नेता के तौरपर अपनी जनता के लिए करना चाहिए था, वो तो तालिबान के डर से अपना बोरिया बिस्तर समेटकर दुबई भाग गए बल्कि वही काम आज अमरुल्ला सालेह बिना डरे अफगानी लोगो के लिए कर रहे है, यहि होता है एक शेर दिल वाला राष्ट्रपति, हो सकता की आने वाले दिनो में सालेह पुरे अफगान को ही तालिबान की कैद से छुड़ा ले, वैसे अमरुल्ला सालेह कि इस शेरदिली कार्रवाई पर एक कोमेंट जरुर करे.

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments