HomeIndian Airforceभारतीय वायुसेना के लिए वार्निंग जेट बनाएगा DRDO

भारतीय वायुसेना के लिए वार्निंग जेट बनाएगा DRDO

जी हा दोस्तों आपने जो हैडलाइन पड़ी, वो बिलकुल सच है क्योकि कुछ दिनों में वाकई में ऐसा होगा या यु कहे तो भारत का अधुरा सपना पूरा करने के ये शुरुवाती कदम है, जिस एक गलती की वजेह से आज पाकिस्तान भारत के सबसे खुबसूरत इलाके के पर कुंडली मार बैठा, उसे अब वापिस लाने का समय हो चूका है, क्योकि जिस खुबसूरत जगेह से दुनिया में शांति का सन्देश जाना चाहिए था, वहा से दुनिया में तबाही मचाने वाले प्लान्स बाहर आ रहे है, और इसके जिमेद्दार हमारे दो निकम्मे पडोसी है, खैर अब वक्त बदल चूका है और भारत भी अपने जोश में है, बस इंतजार है कुछ सटीक वेपन्स का जिसे भारत लगातार बिना रुके खरीद रहा है, जी हा दोस्तों POK को लेकर हाल ही के दिनों में कश्मीर में काफी सारी मीटिंग्स हो रही है, गृहमंत्रालय से लेकर रक्षामंत्रालय तक सक्रीय हो चुके है, कश्मीर में जवानों के साथ फाइटर जेट्स की भी तैनाती बढ़ा दी गयी,

यहाँ तक की अभी १ दीन पेहली ही पाक सीमा के पास यानी राज्यस्थान के बाडमेर नेशनेल हाईवे पर खास एयरफोर्स के लिए आपातकालीन एयरस्ट्रिप का भी उद्घाटन किया गया, ताकि पाकिस्तान पर होने वाले किसी भी मिशन के दौरान यहाँ एमरजेंसी के तौरपर फाइटर जेट्स उतारे जा सके, लेकिन अब POK हथियाने की वीपन्स शोपिंग लिस्ट में और 11000 करोड़ खर्च किये जा रहे है, जी हा दोस्तों पाक पर सटीक कार्रवाई करने के लिए अब भारत सरकार ने पुरे 11000 करोड़ का जिम्मा DRDO को सौपा है, जैसे की आप न्यूज़ १८ के इस आर्टिकल को अपने स्क्रीन पे देख रहे होंगे की भारत सरकार की और से एयरफोर्स के लिए वार्निंग जेट्स बनाने के लिए पुरे 11000 करोड़ के प्रोजेक्ट को मंजूरी दी गयी, और इन्हें जितने जल्द हो उतनी जल्दी बनाए के निर्देश भी जारी हुए, ताकि एयरफोर्स को किसी मिशन के लिए वेट ना करना पडे.

वायुसेना के लिए DRDO जो ये वार्निंग जेट्स बनाएगा ये पाकिस्तान की हर एक मिसाइल या फाइटर जेट को मिलो दूर से ही ट्रैक करने में सक्षम है, इन्हें खासतौर पर किसी सीक्रेट मिशन के दौरान ही इस्तेमाल करते है, ताकि मिशन को अंजाम देने वाली फाइटर जेट्स की फ्लीट अपने टारगेट तक सही सलामत पहोच पाये, आपको याद होगा की बालाकोट में जब भारत की और से एयरस्ट्राइक की गयी तो उस मिशन के दौरान ये वार्निंग जेट्स मतलब अवाक्स विमान ही सबसे आगे थे, ताकि बालकोट मिशन में शामिल 12 मिराज विमानों को पाकिस्तान की क्रूज मिसाइलों से बचाया जा सके, उस मिशन के दौरान इन विमानों की ऐमियत देखते हुए अब भारत सरकार ने DRDO को ऐसे विमान बनाने को कहा ताकि वक्त आने पर इन्ही विमानों के जरिये POK पर सबसे बड़ी एयर स्ट्राइक की जाए इसके अलावा कैबिनेट ने 56 नए C-295MW कार्गो विमानों की खरीद को भी मंजूरी दी, ताकि भारी मात्रा में पैरा ट्रूपर्स को जंग के मैदान में उतारे जा सके, और अब तो स्पेशल राफेल भी आ रहा है, वैसे ये बात तो तय है की एक ना एक दिन POK भारत में शामिल होगा, पर किस सरकार मौजूदगी में ये शुभ कार्य होगा, ये आप बताईये जय हिन्द.

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments