HomeIndian Navyचीन बोला भारत अब बस भी करो | DRDO ने उतारी R-6000km...

चीन बोला भारत अब बस भी करो | DRDO ने उतारी R-6000km की घोस्ट मिसाइल

दोस्तों अब ये केहना गलत नही होगा कि DRDO चीन को सांस लेने का तक मौका नही दे रहा, जी हां अग्नि 5 के परीक्षण से चीन की हालत पेहली खराब है, बल्कि भारत की इस परमाणु मिसाइल के डर से चीन ने अपने प्रमुख शेहरों में Anti Ballistic Defence सिस्टम तक तैनात कर दिये, लेकिन इसबार हमारे साइंटिस्ट ने एक ऐसी मिसाइल परीक्षण का आयोजन किया जो चीन समेत पूरे मिडिल ईस्ट में तबाही मचा देगी, अग्नि 5 का परीक्षण ना हो इसीलिए चीन ने UN के काफी चक्कर काटे लेकिन DRDO की इस घोस्ट मिसाइल के परीक्षण को रोकने चीन कितनी आनाकानी करेगा वो तो देखने लायक होगा.

जी हां दोस्तो DRDO ने देश की दूसरी सबसे घातक ओर लंबी दूरी तक मार करने वाली मिसाइल की First Flight Test की तारीख तय कर ली है, ओर इस मिसाइल को भारत की गेम चेंजर घोस्ट मिसाइल भि कही जा रही है, आपको याद होगा की बीते महीने DRDO ने एक नोटम जारी किया था और जिसमे कहा गया था कि DRDO जल्द ही 3000 से 5000km की एरिया में देश की सबसे घातक मिसाइल का परीक्षण करेगा, अब उसी नोटम के मुताबिक DRDO के वैज्ञानिक India’s Longest Submarine Launch Ballistic Missile यानी K5 का परीक्षण करने जा रहे है, जो की तक़रीबन 6000km तक प्रहार करने में सक्षम बताई गई,

खबर के मुताबिक़ इस मिसाइल का परीक्षण जनवरी में निर्धारित किया गया है, ओर अभी इसके MIRV यानी Multiple Independently Targetable Rentry Vehicle टेक्नोलजी पर काम हो रहा है ताकि ये एक ही समय 10 से 12 परमाणु विस्फोट अपने साथ कैर्री कर सके, अग्नि सीरीज के मिसाइल्स के बाद S4 क्लास की K5 भारत की सबसे घातक ओर लम्बी दूरी तक मार करने वाली मिसाइल होगी, जो हाइपरसोनिक स्पीड से ट्रेवल करेगी, खबर के मुताबिक इसके परीक्षण की भी सभी तैयारीया हो चुकी है DRDO ने बंगाल की खाड़ी में से K5 को लांच करने के लिए सबमर्सिबल पोंटून भी बनाके रखा है, इंतजार है बस इसकी MIRV तकनीक पूरी होने का अगर जनवरी में इसके परीक्षण सफल रहे तो 2023 के आखिर तक इसे भारत की पेहली Nuke सबमरीन INS अरिहंत में फिट की जा सकती है,

तो इस परीक्षण की शुभकामनाएं के तौरपर आप सभी DRDO को जय हिन्द जरूर लिखे.

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments