HomeIndian Airforceचीनी कार्रियर्स को दबोने भारत ने मंगवाई विशेष AGM मिसाइल

चीनी कार्रियर्स को दबोने भारत ने मंगवाई विशेष AGM मिसाइल

दोस्तों हम सभी जानते है कि चीन लद्दाख ओर अरुणाचल के साथ साथ इंडियन ओशन यानी हिन्द महासागर में भी अपनी मौजूदगी बढाना चाहता है, दक्षिण चीन सागर में उसका जी नही भरा इसीलिए उसकी नजर अब भारतीय समुद्री इलाकों पे है, कहा जाता है कि इंडियन ओशन में अपनी गतिविधिया बढ़ाने चीन बडी तेजी से काररिर्स का निर्माण कर रहा, यह तक कि वो नए नए डिस्ट्रॉयर्स भी लांच कर रहा है, ताकि कुछ भी करके भारत के स्पेशल इकोनॉमिक जोन में घुसपैठ की जा सके हालांकि भारत की नोसेना हर पल चीनियों पे नजर रखी हुई है और अपने मेरी टाइम्स एयरक्राफ्ट ओर सबमरीन्स की नियमित गश्त के चलते चीन अब तक अपने मंसूबे में कामयाब ना हो सका, हालांकि ये बात भी उतनी ही सच है कि चीन शांत नही बैठेगा, उसकी ओर से उटपटांग हरकते जारी रहेंगी.

पर इन्हीं हरकतों का पमनेंट इलाज करने भारत अमेरिका से Advance Stand Off प्रिसिजन गाइडेड वीपन यानी AGM 84 All weather anti ship missiles खरीदने पर विचार कर रहा है, यू कहे तो इनकी डील लगभग हो चुकी है बस फोरेजिन मिलिट्री सेल्स के तहेत पमिशन मिलनी बाकी है, आप मे से कई लोग सोच रहे होंगे कि भारत के पास ब्रह्मोस जैसी घातक एन्टी शिप मिसाइल होने के बावजूद भारत अमरीकी मिसाइल्स क्यो खरीद रहा तो आपको बता दे कि भारत कि ब्रह्मोस को सिर्फ नेवी के डेट्रॉयर्स या फिर सुखोई विमानों पर तैनात की जा सकती नाकि किसी विदेशी जेट पर ओर भारत जो ये अमेरिकी मिसाइल्स मंगवा रहा वो नेवी के P8i विमानों के लिए है, जिनपे सिर्फ अमेरिकी मिसाइल्स ही लगाई जा सकती है, जैसे कि राफेल पर फ्रांस की मिसाइले.

आपको बता दे कि AGM 84 खासतौर दुश्मन के जंगी जहाजों को तबाह करने के मकसद से डिज़ाइन की गई, 300km की रेंज वाली ये मिसाइल समुद्र की सतह से मेहेज 4m की उचाई पे उडते हुए ज्यादातर दुश्मन रेडॉर्स को चकमा देने में सक्षम बताई गई, भारतीय नोसेना के पास पेहले से ही ऐसी मिसाइल्स मौजूद है लेकिन अगले साल जो ओर P8i विमान अमेरिका से आयेंगे उनके लिए AGM 84 ऑर्डर अभी दी जा रही है ताकि वक्त पर इनकी डिलीवरी हो सके, आपको बताने की जरूरत नही की नेवी के इस मैरी टाइम विमान ने आज तक कई चीनी सबमरीन्स को घुसपैठ करते हुए पकड़ा, लेकिन अब इन्हीं विमानों को हथियार बंद विमानों में तब्दील किये जाने पर काम जो रहा है, इसपर आप क्या केहना चाहेंगे नीचे कमेंट जरुर करे.

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments