HomeIndian Armyचीनी डिफेंस सिस्टम उडाने प्रलय जरूरी खूबिया देख चीनी एक्सपर्ट्स हैरान

चीनी डिफेंस सिस्टम उडाने प्रलय जरूरी खूबिया देख चीनी एक्सपर्ट्स हैरान

दोस्तों आप सभी ने सुना होगा कि कल सुभेह 10:30 बजे ओडिशा के समुद्रीय तट से देश की पेहली टैक्टिकल प्रलय मिसाइल सुक्सीसफुल्ली टेस्ट फायर की गई, जिसने अपने पेहली ही परीक्षण में सभी ऑब्जेक्टिवज को पूरा करते हुए मिलो दूर खडे अपने टारगेट को उड़ा दिया ओर आज इसी मिसाइल की कुछ ऐसी बाते में आपको बतयूंगा जो आपको जाननी जरूरी है, तो बिना समय गवाये इस वीडियो की शुरुवात करते है.

सबसे पेहले आपको बता दु की प्रलय देश की पेहली कैनिस्टर लांच Surface To Surface Tactical मिसाइल है, अब टैक्टिकल मतलब सामरिक यानी शार्ट रेंज वाली मिसाइल्स को टैक्टिकल मिसाइल कहा जाता है, इन मिसाइलों का इस्तेमाल आमतौर पर जंग के मैदान में सीमित दूरी पर मौजूद दुश्मन के मिलिट्री गैजेट्स को उड़ाने के तौरपर किया जाता है, जैसे की रेड़ार स्टेशन, रोकेट्स लॉन्चर्स या मिलिट्री बँकर्स, अब क्रूज मिसाइल की बात करे तो तो ब्रह्मोस जैसी मिसाइल कम उचाई पर उड़ने वाली Low Flying स्ट्रेटजीक गाइडेड मिसाइल्स होती है, जिनसे परमाणु धमाका भी किया जा सकता है और दूसरी मिसाइलों की तरेह कांवेंशनल वॉर हेड्स भी डिलीवर किये जा सकते है, ब्रह्मोस जैसी क्रूज मिसाइल खासतौर पर पहाड़ो में छिपे दुश्मन टार्गेट्स को तबाह करने या नेवी के जंगी जहाज डुबाने के मकसद से फायर की जाती है, क्योकि ये मिसाइल मेजह जमीन या पानी को छूते हुए उड़ सकती है इसलिए दुश्मन रेडॉर्स ईन्हे डिटेक्ट नही कर पाते.

ओर रही बात स्ट्रेटजीक मिसाइल्स की तो दुश्मन देशों के बड़े शहरो को उड़ाने के लिए स्ट्रेटेजिक यानी लांग रेज बैलिस्टिक मिसाइल का यूज़ किया जाता है, अब आपको समझ मे आ चुका होगा कि भारतीय सेना तीन अलग अलग कैटेगिरी की मिसाइल्स क्यो इस्तेमाल करती है, खैर प्रलय की बात करे तो इस खासकर चीन के एडवांस एयर डिफेंस सिस्टम को उड़ाने के मकसद से डिज़ाइन की गई, आप इसे ब्रह्मोस का अल्टरनेट ऑपशन भी केह सकते है मतलब जब ब्रह्मोस दूसरी जगेह ऐंगेज रहेगी तब उसका काम प्रलय मिसाइल करेगी प्लस इसकी रेंज भी ब्रह्मोस से ज्यादा है प्रलय करीब 2000km प्रति घंटा की रफ्तार से ट्रेवल कर लेती है मतलब ये चीन के ज्यादातर रेडॉर्स को चकमा देते हुए अपने मिशन को अंजाम दे सकेगी इसमे नए से विकसित किये गए Inertial Navigation System लगाए गए जो इसकी मारक क्षमता को बढ़ाने का काम करेंगे.

ओर सबसे खास इस मिसाइल में थर्ड स्टेज MRV यानी मनुवरेबल रेन्ट्री व्हीकल वाला फिचर भी दिया गया है जिससे कि ये बैलिस्टिक मिसाइल्स की तरेह 100 में से एक निर्धारित टारगेट को ट्रैक कर उसे बिना चुके उड़ा देगी, बिल्कुल अग्नि सीरीज की मिसाइल्स की तरेह इसीलिए प्रलय भारत के लिए काफी महत्त्वपूर्ण मिसाइल मानी जा रही है, तो ऐसी उम्दा क्लास वन मिसाइल बानने के लिए DRDO के सभी वैज्ञानिकों को एक जय हिंद जरूर लिखिये.

हमारे हर नये नये आर्टिकल देखणे के लिये हमारे फेसबुक पेज को follow करो : https://www.facebook.com/Arm-Updates-101345365721366/

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments