HomeIndian Airforceलद्दाख की टेंशन खत्म: इजराइल से मंगवाए 120 ड्रोन

लद्दाख की टेंशन खत्म: इजराइल से मंगवाए 120 ड्रोन

दोस्तों हम सभी को पता है की चीन पाकिस्तान को उनके ही घर मे घुसकर मात देनी है वो भी अपने जवानों कि जान गवाये बिना तो भारतीय सेना के पास आर्मर ड्रोन्स होने जरूरी है, क्योकि आज की तारीख में ड्रोन ही एक ऐसा हथियार है जिसका इस्तेमाल कर दुसन को भनक लगे बिना अपने टारगेट को नेस्तानाबूद किया जा सकता है, सेना भी इस बात को भले बाती जानती है इसीलिये तो अमेरिका से MQ9 ड्रोन्स की मांग हो रही है, हालांकि इन प्रीडेटर ड्रोन्स की डील पर अंतिम मुहर कब लगेगी वो तो भगवान ही जाने खैर अमेरिका भारत को MQ 9 ड्रोन्स दे या ना दे लेकिन हमारे मित्र देश यानी इजराइल की ओर से बड़ी तादात में आर्मर ड्रोन्स भारत आ रहे है.

दरअसल सेना को पता है कि 30 MQ9 ड्रोन को लेकर हो रही बातचीत अभी और लंबे समय तक चलेगी हो सकता है कि जब ये डील फाइनल हो जाये तब तक इन ड्रोन्स की कीमत भी बढ़ जाये, HAL के वारियर ड्रोन को अभी टाइम है ऐसे में भारत की स्ट्राइक कैपेबिलिटी दुश्मन देशों के मुकाबले कही कम ना पड जाये इसीलिए इजराइल से करीब 120 ड्रोन्स खरीदने का फैसला लिया गया आप ये आर्टिकल देख रहे है न्यूज़ 18 की ओर जारी इस आर्टिकल के मुताबिक आर्मी करीब 120 लॉइटरिंग ड्रोन्स इसराइल से खरीद रही , जिन्हें प्रिसिजन कील वीपन्स भी कहा जाता है, आपको बता दु की इजराइल में बने ये लॉइटरिंग ड्रोन जिन्हें सुसाइड ड्रोन भी कहा जाता है, ऐसे मीडियम रेंज प्रिसिजन किलर ड्रोन्स की 10 यूनिट इजराइल से खरीदी जा रही है इस एक यूनिट में 12 लॉइटरिंग ड्रोन, लॉन्चर्स ओर Observation Station शामिल है.

इजराइल ने इन्हें खासकर दुश्मन देशों के हाई वैल्यू टार्गेट्स जैसे कि बैटल टैंक, कम्युनिकेशन सेंटर ओर एयरक्राफ्ट शेल्टर्स को उड़ाने के मकसद से डिज़ाइन किये है, सबसे खास बात तो इन ड्रोन्स को क्रूज मिसाइलों पर भी फिट किये जा सकते है, आपको बता दु की लॉइटरिंग ड्रोन्स को लांच करने के बाद इनपर लगे कैमराज की मदद से सेना घर बैठे दुश्मन ठिकानों की लाइव वीडियोग्राफी देख सकेंगे, ये आल वेदर कंडीशन ड्रोन्स है, दिन हो या रात ये अपने निशाने से कभी नही भटकते इमरजेंसी के तौरपर तो 120 ड्रोन ही मंगाये जा रहे क्योकि ये सेल्फ destructing यानी खुद को ही तबाह करने वाले ड्रोन है तो ऐसे काफी सारे ड्रोन्स की सेना को जरूरत पड़ेगी, इसीलिए भारत की अदानी ओर इजराइल की एलबिट सिस्टम बेंगलुरु में बड़े पैमाने पर इनका निर्माण कर रही है, जिन्हें आगे स्काई स्ट्राइकर्स के नाम से जाना जाएगा.

फिलहाल इजराइल ही ऐसा देश है जो भारत के साथ अपनी हथियार तकनीक साझा कर, भारत मे हथियार बना रहा है, वैसे अमेरिकी ओर इजराइली हथियारों में आप किस देश के हथियारों को ज्यादा घातक मानते है नीचे जय हिंद जरूर लिखिये.

हमारे हर नये नये आर्टिकल देखणे के लिये हमारे फेसबुक पेज को follow करो : https://www.facebook.com/Arm-Updates-101345365721366/

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments