HomeIndian Armyजापान ने मांगी भारत की तुरंत मदद भारतीय मिसाइल ही बचा सकती...

जापान ने मांगी भारत की तुरंत मदद भारतीय मिसाइल ही बचा सकती है

दोस्तो चीन से परेशान ओर एक देश ने भारत की ओर रुख करना शुरू कर दिया है, वियतनाम हो, ताइवान हो, फिलीपींस हो या सिंगापोर हो ये सब देश चीनी दहशत से परेशान है, श्यायद दुनिया मे चीन ही ऐसा देश होगा जिसके सभी पड़ोसी उससे तंग आकर चीन पे बंदूके तानके खडे है, ताइवान वियतनाम जैसों को चीन स्वतंत्र देश के रूप में मान्यता तक नही देता उँन्हे वो अपना ही हिस्सा मान मान बैठा है, खैर इन्हीं देशों के लिस्ट में ओर एक देश है जो चीनी घुसपैठियों से तंग आ चुका है जी हा दोस्तों में यहा पे बात कर रहा हु डिजिटल देश जापान की.

आपको भी पता है हाई टेक गाजेट्स हो या इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस जापान से बढकर कोई नही, अपनी वर्ल्ड क्लास टेक्नोलजी के बदौलत ही जापान ने अपना नाम पूरी दुनिया में मशहूर किया लेकिन तकनीकी दुनिया का बादशाह कहे जाने वाला यही जापान आज अपनी सेल्फ डिफेंस फोर्स को घातक हथियार नही दे पाया, आपको बता दु की हथियारों के मामले पे जापान आज भी पुरी तरेह से अमेरिका पे निर्भर है, यू कहे तो जापान की तीनों सेनाओं के जरूरी हथियार अमेरिका ही सप्लाई कर रहा, अमेरिकी हथियारों पे बढती निर्भरता के कारण ही जापान आज तक अपनी सेना के लिए लांग रेंज मिसाइल्स नही बना पाया है, ओर इसी बात का फायदा उठाकर चीन सारे आम जापानी की सरहदी इलाकों में घुसपैठ कर रहा, लेकिन चीन की इसी दादागिरी को रोकने जापानी सरकार ने बड़ा फैसला लिया है

जी हा दोस्तो खबर के मुताबिक, जापान अपनी मिसाइल मारक क्षमता को बढ़ाने पे जोर रहा है, ओर इसके लिए अपने करीबी मित्र यानी भारत की मदद ली जायेगी, जापानी समाचार एजेंसी टोक्यो न्यूज़ के मुताबिक लंबी दूरी की क्रूज एवं बैलिस्टिक मिसाइल्स बनाने के लिए जापान भारत से संपर्क कर रहा, जापान जानता है की फिलहाल भारतीय मिसाइल्स चीन के खिलाफ काफी कारगर मानी जा रही, इसके अलावा भारत के पास कुछ ऐसी मिसाइले भी है जिनकी काट चीनी सेना के पास नही, टोक्यो का मानना है चीन की बढती घुसपैठ को रोकने हमे अपनी रक्षा क्षमताओं को मजबूत करने के अलावा कोई विकल्प नही, ऐसे में एक क्वैड मित्र देश होने के नाते भारत हमारी पुरी सहायता कर सकता है, कहा जाता है की जापान भारत की पृथ्वी और टैक्टिकल मिसाइल्स को और देख रहा जिन्हें फ़िलहाल चीन की बढती घुसपैठी को देख नियत्रण रेखा पे डिप्लॉय की जा चुकी है, जापानी एक्सपर्ट्स मानते है की भारतीय मिसाइल्स अमेरिकी मिसाइलों से सस्ती और प्रहार करने में सटीक है यही वजेह की LAC पे इतना तनाव होने के बावजूद चीनी जेट्स कभी भारतीय हवाई क्षत्रे में दस्खिल नहीं होते जैसे की हमारे यहाँ होते है, ऐसे में भारत के साथ मिसाइलों का निर्माण करना हमें फायदेमंद ही साबित होगा

वैसे जापान की मदद की जाने पर आपकी क्या राय है नीचे कमेंट करके जरुर बतायेगा

हमारे हर नये नये आर्टिकल देखणे के लिये हमारे फेसबुक पेज को follow करो : https://www.facebook.com/Arm-Updates-101345365721366/

हमारे Youtube Channel पै जने के लिये यहा क्लिक करे – https://www.youtube.com/channel/UCLimwPQ0_EdNzNy_ODWRAtg

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments