HomeIndian Airforceरशिया से अरबो डॉलर्स की डील रद पुतिन हैरान भारत को भरोसा...

रशिया से अरबो डॉलर्स की डील रद पुतिन हैरान भारत को भरोसा नहीं

दोस्तो ये केहना गलत नही होगा कि अब भारत का रूसी हथियारों से भरोसा उठ चुका है, मैंने अभी 2 दिन पेहली वीडियो बनाकर आपसे कहा था कि रूसी विमानों की लगातार हो रही दुर्घटनाओं को देखते हुए, एयरफोर्स भी इनसे तंग आ चुकी है, ओर यही वजेह है की MI 17 के बदले चिनूक हेलिकॉप्टर्स खरीदने की मांग हो रही, हमारे करोड़ों रुपयों के जेट्स बर्बाद तो हो ही रहे साथ ही होनहार पायलट्स भी अपनी जान गवा रहे, आपको बता दु जितने विमान कारगिल या भारत पाकिस्तान की जंग में क्रैश नही हुए उससे 2 गुना फाइटर जेट्स इन 3 सालों में क्रैश लैंडिंग कर चुके है, आप इंडिया टुडे की इस रिपोर्ट को पढिये ये 2019 की रिपोर्ट है, जिसमें बड़े बड़े अक्षरों में लिखा गया कि 2019 इस एक साल में कम से कम 12 प्लेन्स क्रैश हो चुके है और जिसमे 20 एयरफोर्स पर्सनेअल्स को अपनी जान गवानी पड़ी, हालॉकि इनमें फ्रांसीसी जगुआर मिराज भी थे और रशियन सुखोई मिग सिरिज के जेट्स भी शामिल रहे.

पर गौर करने वाली बात ये है कि इन सब विमानों में रूसी मूल के विमानों की क्रैश रेटिंग सबसे खराब रही, अब आप लोग बोलेंगे की जिस देश ने 71 की जंग में अमेरिका के खिलाफ जाकर हामारी मदद की जो देश 70 सालों से भारत का दोस्त रहा आप उसीकी बुराई कर रहे, तो दोस्तो बुरा मत मानिएगा 71 की जंग में इजराइल ने भी भारत की मदद की थी, हालांकि उसमे रशिया जैसी परमाणु सबमरीन्स अमेरिकी एयरक्राफ्ट काररीर के सामने खड़ी नही की थी लेकिन जंग में इस्तेमाल होने वाला अधिकतम असला बारूद इजराइल भारत को समय समय पे देता रहा और टाइम्स ओर इंडिया ने इसपे एक आर्टिकल भी लिखा है, वक्त हो तो जरूर पढियेगा, बात करे क्रैश रेटिंग की तो खुद रशिया की इंटरस्टेट एविएशन कमिटी ने अपने रिपोर्ट में लिखकर रखा है की रूस के 75 प्रतिशत विमान एयर सेफ्टी स्टैंडर्ड पे खरे नही उतर पाये.

इसीलिये इंडियन डिफेंस मिनिस्ट्री ये प्लानिंग कर रही है, विमानों को लेकर जितनी भी RFI RFP या EOI रूस भेजी गई है उन सबको रद्द कर दी जाए, यहां तक कि DRDO के मैन पोर्टेबल मिसाइल के सफल परीक्षण के बाद अब रशिया से खरीदी जाने वाली 5000 इगला मिसाइल्स की डील भी रद्द की जाने पे विचार हो रहा है भारत पेहले ही 200 कामोव हेलीकॉप्टर की डील रद्द कर चुका है ओर अब डिफेंस न्यूज़ के मुताबिक एमेरजेंसी पैचेस के तहत खरीदे जाने वाले 60 Iight यूटिलिटी हेलिकॉप्टर्स भी रशिया के बजाय HAL खरीदे जाएंगे मतलब भारत ने रूस के साथ होने वाली बिलियन डॉलर्स की डील रद्द कर चुका है जिन्हें आगे से DRDO ओर HAL ही बनाएंगे, हो सकता है कि भारत रूस से कोई हथियार खरीदे तो टैंक ही हो सकते है वैसे रूसी वेपन्स को लेकर आपकी क्या राय है नीचे कमेंट करके जरुर बतायेगा.

हमारे हर नये नये आर्टिकल देखणे के लिये हमारे फेसबुक पेज को follow करो : https://www.facebook.com/Arm-Updates-101345365721366/

हमारे Youtube Channel पै जने के लिये यहा क्लिक करे – https://www.youtube.com/channel/UCLimwPQ0_EdNzNy_ODWRAtg

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments