HomeIndian Armyखातिरदारी छोडो गोली मार दो सदियों पुराने रुल्स तोड़े पाक हैरान

खातिरदारी छोडो गोली मार दो सदियों पुराने रुल्स तोड़े पाक हैरान

वैसे चीन ने सोचा नहीं होगा की भारत को हद से ज्यादा परेशान करने पर भारत ये विकल्प भी चुन सकता है, कलही मैंने आपसे कहा था, कश्मीर के सेंट्रल जेल में पाक आतंकियों की जो खातिरदारी हो रही, पाक लड़कों पे जो दरयादिली दिखाई जा रही है वो सब बंद कर सीधे गोली मारने के आदेश जवानों को दिए जा चुके है, क्योकि हमारे जवान जान पे खेलकर जिन पाक लडाकों को पुलिस के हवाले कर रहे इनमे से ही कुछ अधिकारी उन्हें स्पेशल ट्रीटमेंट देकर सेना का अपमान कर रहे, अब यही निति यही No Excuse रुल चीन के खिलाफ भी अपनाया जायेगा, दरअसल आपको याद होगा की भारत LAC विवाद को सुलझाने चीन के साथ अबतक 13 दौर की सैन्य स्तर पर बातचीत कर चूका है, लेकिन सब बेनतीजा रहा, उलटा चीन भारत को रूल्स समझाने लगा, की भारतीय सेना LAC प्रोटोकॉल को फॉलो नहीं करती, दिन दहाड़े चीनी सैनिको को मार धाड़ में उतर आती है.

और दोस्तों ठीक ऐसा ही 14वी दौर की बातचीत में भी हुआ है, सबसे पहले इंडिया टुडे की और से जारी इस खबर को पढ़िए, जिसमे साफतौर पर लिखा गया है, LAC गतिरोध को ख़त्म करने भारत चीन की 14 दौर की कोर कमांडर मीटिंग पूरी तरेह से विफल रही, चीनी कमांडर्स ने इसबार भी भारत के सभी प्रस्तावों को सिरे से ख़ारिज कर दिए, दरअसल इस मीटिंग का मेंन मकसद हॉट स्प्रिंग एरिया में जो चीनी सैनिक अभी कुछ संख्या में मौजूद है उन्हें वापिस भेजने पर सेहमति बनानी थी, लेकिन चीन पीछे हटने को तैयार नहीं भारत के लाख समझाने के बावजूद चीन अपने रवैय्ये पे अडा रहा, और यही वजेह है की चीन का ये बर्ताव सेना प्रमुख को कही ना कही ठीक नहीं लगा और उन्होंने ने थोड़े तीखे शब्दों में ही चीन को चेतावनी दी, की सीधे तरीके से बात तो बन नहीं रही, तो हमारे पास भी एक ही उपाय है, जो की संघर्ष.

जी हा दोस्तों MM नरवनेजी ने साफ शब्दों में कहा की अब संघर्ष की आखरी रास्ता है और हमने प्रयास किये तो जरुर विजयी होकर निकलेंगे, चीन ने १४ बार हमारी बातों को नकारा, ना उसकी घुसपैट रुक रही है, और ना ही वो वापिस जा रहा इसीलिए हमें भी सकत कदम उठाने जरुरी है, हमारी और अब से पहले ज्यादा बल तैनाती होगी, सड़क एव पुलों का निर्माण भी तेजा किया जायेगा, सेना प्रमुख का मानना है की चीन रुक नहीं रहा तो भारत के रुकने के भी कोई मायने नहीं बनाते, चीनियों की पिथायी एकमात्र उपाय, खैर दोस्तों ये तो आपको भी पता है की मीटिंग्स लेके चीन सुधरने वाला है नहीं, तो फिर ऐसा क्या करना चाहिए की अगले मीटिंग से पहले ही चीन बोरिया बिस्तर समेत अपने घर वापिस चला जाए, आपका मन क्या कहता है निचे कमेंट करके जरुर बतायेगा.

हमारे हर नये नये आर्टिकल देखणे के लिये हमारे फेसबुक पेज को follow करो : https://www.facebook.com/Arm-Updates-101345365721366/

हमारे Youtube Channel पै जने के लिये यहा क्लिक करे – https://www.youtube.com/channel/UCLimwPQ0_EdNzNy_ODWRAtg

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments