HomeUncategorized2 हाइपरसोनिक नोटम जारी किये विष्णु प्रोजेक्ट वाली ब्रह्मोस उतारी

2 हाइपरसोनिक नोटम जारी किये विष्णु प्रोजेक्ट वाली ब्रह्मोस उतारी

लीजिये दोस्तों एक ही हफ्ते के भीतर DRDO ने दो बड़े नोटम जारी कर दिए है, और वो भी कोई मामूली मिसाइल के नहीं तो हाइपरसोनिक स्पीड से उड़ान भरने वाली मिसाइल्स को लेकर, अब ये नोटम है क्या और क्यों इसे मिसाइल लांच करने से पहले पब्लिकली इशू किया जाता है, उसे पहले समझाते है, तो आपको बता दू, की नोटम एक तरेह का अलार्म या फिर एक चेतावनी भी समझी जा सकती है, इसे जारी करने का मेन मकसद यही रेहता है, की मिसाइल परिक्षण के दौरान कोई भी पैसेजंर प्लेन, हेलीकाप्टर या ड्रोन उस प्रतिबंधित इलाके में उडान न भरे, नहीं तो सोच से सभी बड़ा हादसा देखने को मिल सकता है, आपको बता दू ऐसा ही एक हादसा जून 2014 में मलेशियन फ्लाइट MH17 के साथ हुआ था, दरअसल उन्ही दिनों उक्रेन की तरफ से एक मिसाइल टेस्ट किया जा रहा था लेकिन इसका कोई ऑफिसियल नोटम एयरलाइन्स को नहीं दिए गए थे, और ऐसे ही बेखबर उड़ रही मलेशियन फ्लाइट MH 17 को बिच रस्ते में ही उक्रेन की मिसाइल ने हिट किया और जिसमे करीब 298 पैसेंजर्स मारे गए थे.

ऐसी बहोत सारी घटनाये हुए है, इसीलिए मिसाइल टेस्ट हो, राकेट लांच हो या पैराशूट जंपिंग ऐसे खास मौकों पर नोटम हमेशा जारी किया जाता है, अब बात करते है मैं मुद्दे की, तो आपको याद होगा की ब्रह्मोस मरीन का सफल परिक्षण करने के बाद DRDO की तरफ से HSTDV को लेकर नोटम जारी किया गया है, जिसके मुताबिक 19 से 21 तारीख के बिच हमारे वैघ्यानिक पहली बार बिना शील्ड के HSTDV का परिक्षण करने करेंगे, जिसकी रेंज तक़रीबन 700km बताई गयी थी, DRDO पेहले दो बार इसके परिक्षण कर चूका है, लेकिन वो सिर्फ कुछ सेकंड्स के लिए पेहला टेस्ट किया वो 18 सेकंड का था, दूसरा किया 25 सेकंड्स का लेकिन 3rd टेस्ट पुरे ३ मिनट तक किये जाने की खबर है, और इस परीक्षा में जीतनी हो सके उतनी लम्बी दुरी तक मिसाइल्स को उड़ाई जाएगी, डिफेंस न्यूज़ के खबर के मुताबिक इस परिक्षण के लिए 600 से 800km का एरिया सीज किया जा चूका है.

इस परिक्षण की सबसे बढ़िया बात ये रेहने वाली है की परीक्षणों में HSTDV के आलावा ब्रह्मोस ER यानी Extented Range Missile को भी टेस्ट की जाएगी जिसकी रेंज 600km बताई जा रही है, सिर्फ रेंज ही नहीं तो इसबार ब्रह्मोस की स्पीड को mach 7 तक टेस्ट करने की खबर सुने को मिली है, मतलब ब्रह्मोस ER करीब करीब हाइपरसोनिक स्पीड से उड़ान भरेगी.

और ये सभी मिसाइले विष्णु प्रोजेक्ट के तहेत टेस्ट की जाने वाली है, आपको बता दू DRDO के विष्णु प्रोजेक्ट तहेत २ अलग हाइपरसोनिक क्रूज मिसाइलों का निर्माण किया जा रहा है जिसम ब्रह्मोस मार्क 2 भी आती है और बिना शील्ड वाली HSTDV भी, विष्णु प्रोजेक्ट खासकर हाइपरसोनिक मिसाइल्स के लिए गठित किया गया ताकि फ्यूचर वारफेयर को देखते हुए भारत भी हाई टेक हाइपरसोनिक मिसाइल्स बना सके, क्योकि फ़िलहाल चीन और उसका पागल दोस्त यानी नार्थ कोरिया इन्ही मिसाइलों के लगातार टेस्ट कर रहे है, तो भारत को भी कही ना कही अपनी तैयारी देखनी होगी, खैर आने वाली 25 तारीख को ब्रह्मोस और HSTDV के परिक्षण किये जाने की उम्मीद है तो, इस धमाकेदार परीक्षाओं के लिए एक जय हिन्द लिखकर अपनी प्रतिक्रिया जरुर दे.

हमारे हर नये नये आर्टिकल देखणे के लिये हमारे फेसबुक पेज को follow करो : https://www.facebook.com/Arm-Updates-101345365721366/

हमारे Youtube Channel पै जने के लिये यहा क्लिक करे – https://www.youtube.com/channel/UCLimwPQ0_EdNzNy_ODWRAtg

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments