HomeIndian Airforceअमेरिका ने फ्रांस के होश उडाये

अमेरिका ने फ्रांस के होश उडाये

ये आर्टिकल आप देख रहे है, जो दिखता की भारत का नेवल कॉन्ट्रैक्ट हासिल करने के लिए अमेरिका फ्रांस दोनों ही कितना ऐड़ी चौटी का जोर लगा रहे है, कल ही आपसे कहा था कि फ्रांस ने अपने राफेल मरीन जेट्स का डिवेलपमेंट प्रोपजल देकर FA18 कैसे पीछे छोड दिया था यानी भारत अपनी नेवी के लिये अगर राफेल मरीन को चुनता है तो फ्रांस अपने राफेल जेट्स मेक इन इंडिया इनिशिएटिव के तहेत बनाने के लिये तैयार है, यहा तक कि फ्रांस ने राफेल में लगने वाले M88 जेट एंजिन की कम्पलीट TOT भी भारत से साझा करने की बात की है, प्लस सैफरॉन जो भी ऐंजिस बनाएगी उसकी इंटेलेक्चुअल प्रॉपर्टी राइट्स भी भारत के पास रहेंगें मतलब हम इन ऐंजिन्स का इस्तेमाल ना सिर्फ AMCA के लिए कर सकेंगे बल्कि आगामी तेजस मार्क 2 ओर TEDBF में भी लगा सकते है,

देखा जाए तो इस नेवल डील के तहेत फ्रांस ने भारत को वो ऑफर्स दी है, जो अभी तक तो अमरीका हमे नही दे पाया था, ऐसा लग ही रह था कि ये टेंडर फ्रांस के ही पक्ष में जायेगा की तभी अमेरिका ने भी अपना पासा फेक ही दिया, देखा जाए तो अभी तक अमेरिका ने हमे कोई भी टेक्नोलॉजी ट्रांसपर या जेट ऐंजिन्स के राइट्स नही दिये लेकिन उसने कीमत को लेकर बडा दाव खेला, दरअसल अमेरिकी बोइंग कंपनी ने दावा किया है कि अगर भारत हमारे FA18 को चुनता है, तो हम ना सिर्फ FA18 का लेटेस्ट वझन यानी FA18 ब्लॉक 3 भारत को देंगे बल्कि इसे राफेल के मुकाबले 33 प्रतिशत सस्ता भी बेचेंगे, यू कहे तो हम भारत को 1 राफेल की कीमत में 2 FA18 मुहैया कर सकते है,

अमेरिका का मानना है कि भारत ने 60 हजार करोड़ की लागत से 36 राफेल खरीदे, मतलब एक राफेल करीब करीब 1600 करोड़ का हालांकि उसमे मिसाइल्स, स्पीयर पार्ट्स या दूसरे जरूरी उपकरण भी शामिल थे, फिर भी भारत ने 1600 करोड़ में एक राफेल खरीदा है, वो भी F3 मानक का, इतनी कीमत में भारत अपने ही 3 तेजस खरीद लेता, खैर ये बीती बाते है लेकिन हम भारत को 900 करोड़ में FA18 ब्लॉक 3 पेश करते है, वो भी पूरे मिसाइल पैकेज के साथ, इतना ही नही तो पेहले 2 साल तक हम भारत को सर्विस मैंटन्स भी फ्री देंगे, बोइंग का मानना है कि हमने FA18 का यही ब्लॉक 3 संकरण US नेवी को 1000 करोड़ के ऊपर बेचा है ओर आज यही जेट हम भारत को 900 करोड़ में देने के लिए तैयार है, हालाकि इसमें किसी भी तरेह की TOT या मेक इन इंडिया की बात नही है, ये सिर्फ हैंड टू हैंड डील होगी, मतलब पैसे दो और जेट्स खरीदो, एक बार जेट्स खरीदने के बाद ना हम आपको जानते है ना आप हमें जानते है,

याब देखा जाये तो फ्रांस के राफेल मेंहगे जरूर है लेकिन वो भारत के साथ काम करने के लिए तैयार है, ऐसे में आप बताना हमे 2 पैसे बचाकर FA18 लेने चाहिए या फिर राफेल खरीदकर फ्रांस की तकनीक हासिल करनी चाहिए नीचे कमेंट करके जरुर बतायेगा.

हमारे हर नये नये आर्टिकल देखणे के लिये हमारे फेसबुक पेज को follow करो : https://www.facebook.com/Arm-Updates-101345365721366/

हमारे Youtube Channel पै जने के लिये यहा क्लिक करे – https://www.youtube.com/channel/UCLimwPQ0_EdNzNy_ODWRAtg

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments